तमिलनाडु और तेलंगाना में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान बनेंगे।


देश भर में स्वास्थ्य योजनाओं और सुविधाओं की बढोत्तरी करने में एक और कदम उठाते हुए केंद्र सरकार की मंत्री परिषद ने तमिलनाडु और तेलेंगाना में दो नये अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) की स्थापना को स्वीकृति दी है। यह संस्थान तमिलनाडु में मदुरै और तेलंगाना में बीबिनगर में स्थापित होंगे।

मदुरै के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान की लागत 1,264 करोड़, जबकि बीबिनगर में यह 1,028 करोड़ की लागत से स्थापित किया जायेगा, यह संस्थान प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के अंतर्गत बनाये जायेंगे। इसके अतिरिक्त इन संस्थानों के लिये निदेशक के पद भी बनाया गया है, जिसकी बेसिक आय 2,25,000 (निश्चित राशि) + NPA रखी गयी है, किंतु यह कुल मिलाकर 2,37,500 से अधिक नही होगी।

नये संस्थान में एक चिकित्सायलय, मेडिकल और नर्सिंग विषयों के लिये शैक्षिक खंड, आवासीय स्थान, तथा अन्य सुविधाओं का निर्माण किया जायेगा, जो कि अन्य ऐम्स के अनुसार ही होगा। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थानों के बनाने का उद्देश्य देश भर में स्वास्थ्य सुविधाओं, चिकित्सा सुविधा तथा शिक्षा, नर्सिंग शिक्षा उपलब्ध कराने तथा शोध को बढावा देने के लिये किया गया है।

प्रस्तावित संस्थान में 750 बिस्तर वाला एक हॉस्पिटल होगा, जिसमे आपातकालीन व्यवस्था, विशेष सुविधाओं युक्त बिस्तर होंगे, इसके अतिरिक्त आयुष खंड, ऑडिटोरियम, रात्रि विश्राम गृह, गेस्ट हाउस, हॉस्टल तथा आवासीय सुविधायें भी होंगी। नयें संस्थानों का निर्माण देश के लिये चिकित्सा के क्षेत्र में मानव संसाधन भी तैयार करेगा। संस्थान के निर्माण के लिये जो समय रेखा तैयार की गयी है वह 45 माह की है, जिसमे निर्माण पूर्व कार्यों के लिये 10 माह, निर्माण के लिये 32 माह, तथा स्थायित्व और अन्य कार्यों के लिये 3 माह का समय सुनिश्चित किया गया है।

यह दो नये संस्थानों में से प्रत्येक लगभग 3,000 व्यक्तियों के लिये रोजगार के अवसर प्रदान करेगा तथा निर्माण के दौरान भी इससे लोगों को रोजगार मिलेगा।


प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *