राहुल गांधी कन्फ्यूजः पनामा पेपर में लिया शिवराज सिंह के बेटे का नाम।

Share on
  •  
  • 1

मध्यप्रदेश के चुनाव में आरोप प्रत्यारोप अब झूठ और स्तरहीनता पर उतरने शुरु हो गये हैं, इसी क्रम में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर आरोप लगाते हुए कहा कि उनके बेटे का नाम पनामा पेपर में लीक हुआ था, जिस पर मुख्यमंत्री के पुत्र ने इसे अपना अपमान मानते हुए कांग्रेस अध्यक्ष पर मानहानि का केस कर दिया है।
आरोप के झूठ की गंभीरता को समझते हुए बाद में राहुल गांधी ने कहा कि ऐसा उन्होंने किसी कन्फ्यूजन में कह दिया, किंतु ऐसा कहते हुए भी उन्होंने कटाक्ष किया कि भाजपा में इतना भ्रष्टाचार है कि मैं कन्फ्यूज हो गया था। तब तक मुख्यमंत्री के पुत्र कार्तिकेय उनके विरुद्ध केस कर चुके थे। इस प्रकरण पर मुख्यमंत्रीन ने कहा कि यदि कोई छोटे स्तर का नेता इस प्रकार के आरोप लगाता तो अलग बात होती, लेकिन कांग्रेस के अध्यक्ष ने इस प्रकार के आरोप लगाये हैं, यह दुर्भाग्यपूर्ण है, यदि वह अपने व्यवहार के लिये माफी मांगते हैं तो विचार किया जा सकता है।

मध्यप्रदेश में पिछले 15 वर्ष से भाजपा की सरकार बनी हुई है तथा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में वहां के नागरिकों ने पिछले 3 बार के चुनाव में भाजपा को चुना है। कांग्रेस इस बार कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया को आगे कर चुनाव लड़ रही है, वहीं भाजपा के लिये शिवराज सिंह चौहान एक बार फिर विकास और नागरिकों के लिये राजनीति करने, और अपने पिछले कार्यों द्वारा नागरिकों के जीवन स्तर में हुई बढोत्तरी से अपनी विजय की आशा रख रही है।

चुनावी दौर में छींटाकशी और आरोप प्रत्यारोप के इस युग में राजनैतिक पार्टियां और नेता अपनी विजय को निश्चित करने के लिये विभिन्न प्रकार के लोभ, झूठ, आरोपों का सहारा ले रहे हैं। लोकतंत्र का चुनावी पर्व अब शालीनता की सीमायें लांघ कर किसी भी प्रकार सत्ता को प्राप्त करने का साधन बनता जा रहा है। राज्यों के चुनाव में इस प्रकार के झूठे आरोप और कुछ भी कह देने की स्वच्छंदता को पार्टियां अब खुलकर प्रयोग करने लगी हैं। महानगर स्तर से लेकर पार्टी अध्यक्ष स्तर तक के नेता इससे अछूते नही रहे हैं। कांग्रेस देश से अपनी सफाई होने की हताशा और नेतृत्व की अक्षमता से जूझ रही है तो भाजपा के पास मध्य प्रदेश में अभी 15 साल से सरकार में बने रहने और नागरिकों के साथ देने के दृढ विश्वास के साथ चुनावी मैदान में जमी हुई है।


Share on
  •  
  • 1

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *