हम भारत के साथ व्यापार करने को उत्सुक हैं : मालदीव राष्ट्रपति


भारत के पड़ोसी देश मालदीव के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद सोलिह ने रविवार को कहा कि वह भारत के साथ व्यापारिक गतिविधियों के लिये खुले रूप से साथ हैं, और विदेशी निवेश के लिये कोई कठिनाई नही होगी। सोलिह तीन देश की भारत यात्रा पर आये हुए हैं और भारत मालदीव व्यापारिक फोरम पर उन्होंने यह बात की।
मालदीव में भारतीयों के लिये व्यापारिक अवसरों के बारे में बोलते हुए उन्होंने कहा कि वह निवेशकों को मालदीव में व्यापारिक विकास के लिये सभी सुरक्षा और कानूनी व्यवस्था देने के लिये प्रतिबद्ध हैं। हम एक निवेशकों और व्यापारिक गतिविधियों के अनुकूल वातावरण दे रहे हैं।

भारत और मालदीव के बीच के संबंधों की प्रगाढता के लिये उन्होंने कहा कि भारत हमारा सबसे नजदीकी पड़ोसी देश है, हमारे और भारत के बीच के लोगों में सांस्कृतिक और मित्रता के संबंध हैं, भारत हमारा सबसे अच्छा मित्र ही नही, बल्कि वह सबसे बड़ा व्यापारिक साथी भी है। इन सभी संबंधो के बीच हमारे व्यापारिक और वाणिज्यिक संबंध और अधिक बढेंगे। मालदीव अपने पर्यटन उद्योग को बढाने के लिये आधारभूत ढांचे के साथ ही क्षेत्रीय एयरपोर्ट के विकास को भी बढाता रहेगा।

नई दिल्ल्ली के प्रति आभार व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि हमारा देश भारत द्वारा मालदीव के हजारों छात्रों को अवसर देने के लिये आभार व्यक्त करता है जो यहां के विश्वस्तरीय शैक्षिक संस्थाओं में पढाई कर डॉक्टर, इंजीनियर बन रहे हैं।

स्मरण रहे कि मालदीव में सत्ता परिवर्तन हुआ है, और इसके पहले के राष्ट्रपति चीन के प्रति झुकाव रखते थे, और उनके कई निर्णय भारत विरोधी थे। नये राष्ट्रपति सोलाह भारतीय चिंताओं से परिचित हैं और भारत की नीतियों और उसके साथ संबंध बनाने को वरीयता देते हैं।


प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *